आईसीएमआर की नई चिंता करोना वायरस के लक्षण को अंदाजा लगाना मुश्किल 80% मरीजों में कोरोना लक्षण नहीं

आईसीएमआर की नई चिंता करोना वायरस के लक्षण को  अंदाजा लगाना मुश्किल 80% मरीजों में  कोरोना लक्षण नहीं  

बीते 24 घंटों में 1553 नए मामले और 36 लोगों की मौत भारत में

 59 जिलों में 14 दिनों से कोरोनावायरस का कोई नया केस नहीं देश में कोरोनावायरस का संकट बहुत तेजी से बढ़ रहा है आईसीएमआर के वरिष्ठ वैज्ञानिक रमन आर गंगाखेडकर ने एंनडी टीवी को दिए गए साक्षात्कार में बताया कि कोरोना के 80% मामलों में संक्रमण के लक्षण नहीं दिखे यानी इसमें किसी भी प्रकार के कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं दिखते हैं हमारा एक ही डर है कि उनका पता लगाने को लेकर है यह एक चिंता का विषय बना हुआ है
                             लाकडाउन से फायदा के सवाल पर उन्होंने कहा कि इससे भारत को लाभ हुआ है कोरोना वायरस के संक्रमितओं की संख्या कब सबसे ज्यादा होगी इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मई के दूसरे हफ्ते में ऐसा संभव हो सकता है हमें दिशा का पता चल जाएगा हालांकि भारत में कोरोना के मामलों की संख्या बहुत ज्यादा ऊंचे स्तर पर नहीं होगी श्री गंगा खेड़कर जी ने कहा कि इस तरह के मामलों का पता लगाना मुश्किल है जिनमें लक्षण दिखाई नहीं देते हैं!
बॉर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी व  पुलीस कर्मी 

 इस तरह के मामलों का पता लगाने का एक ही जरिया और वह है कोरोना संक्रमित पाए गए लोगों के कॉन्टेक्ट्स को ट्रेस करके ही इनका पता लगाया जा सकता है नहीं तो मुश्किल है सबका टेस्ट मुमकिन नहीं हो सकता है यह एक चिंता का विषय है खुद का ख्याल रखें और सरकार के निर्देशों का पालन करना बहुत जरूरी है और लाभ डाउन का पालन करते रहें,


घर घर जाकर संभावितों का जाँच  करना 

 संक्रमण कब-कब फैल सकता है

 डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोनावायरस के फैलने के तीन रास्ते हो सकते हैं 

1- सिंप्टोमेटिक- इसमें वे लोग आते हैं जिनमें करो ना कि लक्षण दिखाई देते हैं और उन्हें एक दूसरे को फैलाया होता है यह रोग लक्षण दिखने के पहले 3 दिन में लोगों को फैला सकते हैं ऐसे लोग,
2  प्रीसिंप्टोमेटिक यह वायरस के संक्रमण फैलाने और लक्षण दिखने के बीच भी कोरोनावायरस का संक्रमण फैल सकता है इसकी समय सीमा 14 दिन की होती है जो इस वायरस का इनक्यूबेशन पीरियड भी कहलाता है इनमें सीधे तौर पर करो ना के लक्षण नहीं दिखते हैं लेकिन हल्का बुखार बदन दर्द जैसे लक्षण शुरुआती दिनों में दीखते हैं।
3-  एसिंप्टोमेटिक ऐसे मरीज होते हैं जिनमें किसी तरह के लक्षण नहीं होते हैं लेकिन वह कोरोना पॉलिटिक होते हैं और संक्रमण को फैला सकते हैं

 देश में संक्रमित ओं की संख्या हुई 19000

 देश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या मंगलवार को शाम 8:00 बजे तक 603 तक पहुंची वहीं कुल संक्रमित ओं की संख्या 18985 और कुल कुल ठीक हुए मरीजों की संख्या 3260 यह सूची मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर गवर्नमेंट ऑफ इंडिया की वेबसाइट से प्राप्त किया गया,

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें